Saturday, May 7, 2011

आज भगवान कृष्ण भक्त महा कवि सूर दास जी की जयंती है

आज भगवान कृष्ण भक्त महा कवि सूर दास जी की जयंती है
भगवान के बाल स्वरूप की सुंदर झाकियां जिस मोहक ढंग से संत सूर दास जी ने काव्य में व्यक्त की हैं विश्व के किसी भाषा के साहित्य में ऐसा वर्णन देखने को नही मिलता
इस के साथ सात्विक प्रेम यानि श्रृंगार वर्णन में भी कवि सिद्ध हस्त है
मैया मोरी मैं नहीं माखन खायो
विश्व का सर्वाधिक प्रख्यात बाल गीत है
आओ हम इस महान संत कवि को नमन करें
डॉ. वेद व्यथित

6 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

जयति सूरदासं।

वन्दना said...

आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
प्रस्तुति भी कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
कल (9-5-2011) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
अवगत कराइयेगा और हमारा हौसला बढाइयेगा।

http://charchamanch.blogspot.com/

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

इस महान संत कवि को नमन.....

anupama's sukrity ! said...

महाकवि सूरदास जी को करबद्ध नमन |

KAVITA said...

महान संत कवि को नमन.....

Vivek Jain said...

शत शत नमन
विवेक जैन vivj2000.blogspot.com