Saturday, June 5, 2010

हम बज क्यों नही आते

आज पर्यावरण दिवस मना रहे हैं :-
पर अपनी एक भी आदत में सुधर को तैयार नही है जैसे
१ क्या हम अपना ए.सी. कितना समय बंद रखेंगे
२क्या हम बाजार अपना थैला या बैग ले कर जाते है
३क्या हम पौलिथिन के लिए दुकानदार को मना करते है
4क्या हम किसी वृक्ष को लगाने के बाद उस की देख भाल करते है
5 क्या हम अपने घर व अन्य स्थान पर पानी बचाने के लिए कृत संकल्प हैं
६ क्या हम कागज का सदुपयोग करते है
७ क्या हम पुराने एक तरफ खाली कागज का उपयोग करते है
८ क्या हम कभी बिजली बचाने का आग्रह अपने घर में करते हैं
9 क्या हम केवल दूसरों को ही उपदेश देते हैं
१० क्या हम पर्यावरण को बचाने के लिए अपने आप से भी कभी प्रश्न करते हैं

यदि नही तो क्या आज इस की शुरुआत करेंगे मैं कर रहा हूँ
आप सहभागी बने पर्यावरण बचाने के नारे में नही अपितु कुछ करने में
प्रार्थी
वेद व्यथित

2 comments:

M VERMA said...

सभी प्रश्न जायज है और इसका उत्तर सकारात्मक ही होना चाहिए.

सतीश सक्सेना said...

इस प्रकार का लेख कोई नहीं पढता वेद व्यथित जी अतः सिर्फ एक कमेंट्स आया है इस सुंदर सोच पर ! कुछ आनंद दायक लिखो क्यों बोर करते हो यार ! आशा है इस मज़ाक का बुरा नहीं मानेंगे !
:-)
सादर !