Wednesday, June 1, 2011

जरूरी है

जरूरी है सभी दुर्गन्ध हटा दी जाये
कूढा है जहाँ आग लगा दी जाये
थोडा नुकसान सही ये तो सहना होगा
जरू री है बहुत दुनिया संवारी जाये ||

दुनिया को यह बात बता दी जाये
लगनी है जहाँ आग लगा दी जाये
बहुत शूल उपज आये हैं सभी राहों में
अब फूलों की वहाँ पौध लगा दी जाये ||

प्यार से पत्थर भी पिघल जायेगा
चट्टान तो क्या आसमां हिल जायेगा
प्यार की ताकत को जरा पहचानो
प्यार से अमृत सा बरस जायेगा ||

प्यार कोई धूल नही जो यूं ही उड़ा दी जाये
प्यार कोई फूल नही जो भेंट चढ़ा दी जाये
प्यार अनमोल है कीमत ही नही इस की
ये कोई वस्तु नही जिस की बोली लगा दी जाये ||

4 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

प्यार को बाज़ार से दूर रखना आवश्यक है।

Poorviya said...

दुनिया को यह बात बता दी जाये
लगनी है जहाँ आग लगा दी जाये

jai baba banaras..........

मनोज कुमार said...

प्यार अनमोल है, शक्तिशाली है।

musafir said...
This comment has been removed by the author.